Wife arrest : प्रेमी से दो साल पहले की शादी, फिर पति की हत्या के लिए इंटरनेट पर ढूंढे तरीके, उतारा मौत के घाट

Wife arrest : प्रेमी से दो साल पहले की शादी, फिर पति की हत्या के लिए इंटरनेट पर ढूंढे तरीके, उतारा मौत के घाट
जयपुर. चार दिन पहले बगरू रीको क्षेत्र में क्राफ्ट कंपनी के लेखाकार सुरेश चंद शर्मा की हत्या के मामले में पुलिस ने मृतक की पत्नी कुसुम (36) को भी साजिश में लिप्त पाए जाने के बाद गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि महिला व उसके प्रेमी ने लॉकडाउन से पहले ही हत्या की साजिश रच ली थी लेकिन कामयाब नहीं हो पाए और लॉकडाउन में छूट मिलते ही वारदात को अंजाम दे दिया।
पुलिस उपायुक्त जयपुर पश्चिम कावेन्द्रसिंह सागर ने बताया कि क्राफ्ट कंपनी में लेखाकार सुरेश चन्द शर्मा (43) की मंगलवार को हुई हत्या के मामले में आरोपी पूरणचन्द महावर निवासी जोशी कॉलोनी ब्रह्मपुरी जयपुर को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो पता चला कि हत्या की साजिश में मृतक की पत्नी का भी हाथ है। इस पर पुलिस ने उसे शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि मृतक की पत्नपी कुसुम व पूरणचंद के बीच शादी से पहले ही प्रेम प्रसंग था। शादी के बाद दोनों में दूरी हो गई और संपर्क नहीं हुआ। 2018 में फेसबुक के जरिए फिर से संपर्क में आए और मोबाइल पर बात शुरू हुई। इसके बाद मिलने लग गए। कुसुम ने पूरण के साथ मिलकर अपने पति को रास्ते से हटाने के लिए कई बार-बार योजना बनाई। हत्या के लिए यूट्यूब व हलो एप पर भी तरीके सर्च किए। फिर जहर देने की योजना भी बनाई लेकिन कामयाब नहीं हो पाए।
लॉकडाउन से पहले रची साजिश
हत्या की साजिश लॉकडाउन के पहले बना ली थी, लेकिन सफल नहीं हुए। लॉकडाउन में दोनों की बात नहीं हो पा रही थी। फिर ढील मिलते ही कुसुम व पूरणचन्द ने घटना के 10 दिन पूर्व भी हत्या का किया था लेकिन सुरेशचन्द फैक्ट्री से अपने साथियों के साथ निकला था इसलिए कामयाब नहीं हो पाए। सुरेशचन्द की पूरी लोकेशन उसकी पत्नी पूरण को दिया करती थी। 25 मई को पूरण व कुसुम शर्मा ने मे वाट्सएप कॉल से बातचीत करके हत्या की योजना पूरी कर और अपने फोन फॉरमेट कर कॉल व फोटो डिलेट कर दिए। 26 मई को सुरेशचन्द के फैक्ट्री से निकलते ही उसे शाम 7 बजे पूरणचन्द ने बगरू रीको क्षेत्र में पेट्रोल पम्प के पास बुलाया तथा कार में बैठाकर सुनसान जगह पर हत्या कर दी। घटना को लूट का रूप देने के लिए पूरणचन्द ने चांदी का कड़ा, अंगूठी, पर्स व मोबाइल निकाल लिए।
हत्या के बाद कंट्रोल रूम में किया फोन
हत्या करने के बाद पूरणचंद ने कुसुम शर्मा को हत्या की जानकारी देकर आगे की योजना पर कार्रवाई करने के लिए कहा। योजना के तहत कुसुम शर्मा ने पति के घर नहीं आने पर मकान मालिक, कम्पनी के मैनेजर व पुलिस कंट्रोल रूम पर सूचना दी। आरोपियों ने वर्ष 2018 में जमवारामगढ़ के एक मन्दिर में शादी करना भी बताया है। दोनों आरोपी ज्यादातर व्हाट्सएप पर बात करते थे। पुलिस ने कुसुम से सिम व मोबाइल भी जब्त किया है।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments