राहुल द्रविड़ ने स्लेजिंग को लेकर ऑस्ट्रेलियाई टीम को दी चेतावनी, बोले- विराट कोहली को लड़ाई से प्यार है

file image of rahul   dravid and virat kohli  bcci
ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज मैथ्यू वेड ने हाल ही में यह स्वीकार किया कि दिसंबर में इस साल भारतीय टीम के दौरे पर वह कप्तान विराट कोहली और टीम इंडिया को स्लेज करने से बचेंगे। उन्हें लगता है कि विराट कोहली और टीम इसका उपयोग फायदे के तौर पर करती है। वेड इससे पहले अपने विरोधियों पर कड़ी टिप्पणियां करते रहे हैं। विशेषकर भारत के खिलाफ 2017 की वनडे सीरीज और पिछले साल की एशेज सीरीज के दौरान उन्होंने ऐसा किया था। मैथ्यू वेड के इस बयान के बाद पूर्व भारतीय क्रिकेटर राहुल द्रविड़ ने भी इस मुद्दे पर ऑस्ट्रेलियाई टीम को चेतावनी दी है।
विराट कोहली पहले ऐसे भारतीय कप्तान हैं, जिसने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीती है। भारतीय कप्तान इस उपलब्धि को फिर से दोहराना चाहेंगे। पिछले कुछ सालों में कोहली के मैदान पर कई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों से विवाद हुए हैं। इनमें ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा टेस्ट कप्तान टिम पेन भी शामिल हैं। हालांकि पिछले साल की जीत के बाद ऑस्ट्रेलियन टीम को यह लग गया होगा कि कोहली की स्लेजिंग करने से वह बैकफायर कर सकते हैं।
कोहली के खिलाफ स्लेजिंग का प्रयोग न करें
हाल ही में मैथ्यू वेड की इस टिप्पणी के बाद कि वह कोहली के साथ स्लेजिंग नहीं करेंगे, इस पर राहुल द्रविड़ ने भी ऑस्ट्रेलिया को यह चेतावनी दी है कि वे कोहली के खिलाफ स्लेजिंग का प्रयोग न करें। राहुल के मुताबिक बहुत आक्रामक बल्लेबाज हैं और मैदान पर लड़ने से उन्हें प्रेम है। 
विराट कोहली को लड़ाई से प्रेम है, उन्हें मुकाबला अच्छा लगता है
सोनी टेन पिट स्टॉप पर राहुल द्रविड़ ने कहा, ''विराट कोहली को लड़ाई से प्रेम है, उन्हें मुकाबला अच्छा लगता है। वह बहुत प्रतियोगी और आक्रामक हैं। आप उन्हें और ज्यादा आक्रामक नहीं बनाना चाहेंगे। मुझे नहीं मालूम वह कितने आक्रामक हो सकते हैं।'' द्रविड़ ने इस बात पर जोर दिया कि ऑस्ट्रेलिया के हित में यही होगा कि वह कोहली की स्लेजिंग से बचें। 
इस तरह की चीजें खिलाड़ियों को बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं करती
उन्होंने कहा, ''खिलाड़ी शाब्दिक हंसी- मजाक का बुरा नहीं मानते। दोनों टीमों को जीत के लिए अपना बेहतर देना चाहिए और एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए।'' द्रविड़ ने कहा, ''इस तरह की चीजें खिलाड़ियों को बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं करती। आखिर यह प्रतियोगिता है। वे जानते हैं कि कैसे अपने खेल में टॉप पर रहना है। आपका कौशल बेस्ट होना चाहिए। खासकर यदि उन्हें कोहली के खिलाफ खेलना है। विराट भी अपने खेल को जानते हैं। वह पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, जेम्स पैटिंसनऔर जोश हेजलवुड के खिलाफ अच्छा परफॉर्म करते हैं।''
स्लेजिंग मैथ्यू वेड को बड़ी समस्या में डाल सकती है
उन्होंने कहा, ''मुझे लगता है कि वेड यह कहने की कोशिश कर रहे हैं कि उनका फोकस खेल  पर होगा, क्योंकि स्लेजिंग उन्हें बड़ी समस्या में डाल सकती है। यदि उन्होंने विराट के खिलाफ कुछ भी गलत किया तो वह जानते हैं कि विराट क्या कर सकते हैं।'' बता दें कि 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का यह दौरा 3 दिसंबर से शुरू होगा। पहला टेस्ट गाबा, ब्रिस्बेन में खेला जाएगा। अन्य मैच एडिलेड, मेलबर्न और सिडनी में होंगे।


यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments