आखिर ब्लेड के बीच क्यों बना होता है ये ख़ास डिजाइन; जान लें कारण


अक्सर कुछ चीजें ऐसी होती है जो रोज हमारे सामने होती है लेकिन उनका जवाब हम जानते नहीं है। ये चीजें ऐसी होती है जो रोज हमारे काम आती है, हम इन्हें काम में लेते हैं लेकिन फिर भी इनके बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं। आज हम आपको एक ऐसी ही चीज के बारे में बताने जा रहे हैं जो है ब्लेड, जी हां, आपके रोज नहीं तो हफ्ते में एक या दो बार तो ब्लेड काम आती होगी। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ब्लेड के बीच में एक खास तरह की डिजाइन बनी होती है, उसको बनाने के पीछे कंपनी का क्या मकसद रहता होगा।
चलिए आज हम आपके सारे सवालों के जवाब देने के लिए तैयार हैं। जब से ब्लेड बनी है तब से ही ये डिजाइन चल रहा है इसके पीछे एक सबसे बड़ा कारण है इसको बनाने वाली कंपनी जिलेट। जिलेट कंपनी ने ही सबसे पहले ब्लेड बनाने की शुरूआत की थी।
साल 1901 में जिलेट कंपनी ने जो ब्लेड का डिजाइन किया था वो ठीक वैसा ही था जैसा कि आज है। कुछ समय रेजर ऐसे आते थे कि उन्हें ब्लेड के बीच में फिट करना होता था इसलिए ये डिजाइन बनाया हुआ होता था।
सालों बाद कई कंपनियां मार्केट में आई उन्होंने ब्लेड के कई डिजाइन और बनाएं लेकिन वो रेजर में फिट नहीं बैठ रहे थे इसलिए कंपनी ने जिलेट के डिजाइन को ही आगे बढ़ाया। इसके बाद सालों से ब्लेड के डिजाइन में कोई भी बदलाव नहीं किया गया है।
अब आप समझ गए होंगे कि जिलेट कंपनी के डिजाइनर की बदौलत ही आज जो डिजाइन हम देख पा रहे हैं वो वैसा है।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments