प्रेमी से हुए नैन मैंटके तो पति को चल गया पता, और फिर पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर रात में जो किया जानकर हैरान हो जाएंगे आप…

डुमरा राजा तालाब से मिले बीसीसीएल कर्मी शंकर सिंह की सिंह की हत्या उसकी पत्नी सोनी देवी ने ही कराई थी। सोनी ने अपने आशिक मुराईडीह बस्ती निवासी नंदलाल महतो के साथ मिल कर शंकर को मौत की नींद सुलवा दिया। आशिक के साथ रहने और पति की जगह बीसीसीएल में अनुकंपा पर नौकरी पाने के लालच में यह साजिश रची गई। नंदलाल ने बहियारडीह सोनारडीह निवासी रंजीत महतो और पिंटू चौहान उर्फ बोमडिया को शंकर की हत्या की सुपारी दी थी।
 जब शव का पोस्टमार्टम कराया गया तो पता चला कि यह अप्राकृतिक मौत का नहीं बल्कि हत्या का मामला है। इसके बाद प्रशिक्षु दारोगा मनीष कुमार महतो ने मामले की पड़ताल शुरू की। सोनी ने पुलिस के समक्ष स्वीकार किया कि पति शंकर सिंह के घर से निकलते ही उसने इसकी जानकारी नंदलाल को दे दी।
सोची-समझी रणनीति के तहत नंदलाल ने शंकर के ऑफिस जाने वाले रास्ते में पिंटू और रंजीत को पहुंचा दिया। दोनों डुमरा राजा तालाब के पास घात लगाकर बैठे थे। शंकर के वहां पहुंचते ही दोनों उस पर टूट पड़े। पिंटू ने शंकर के गले में गम्छे डाल कर खींचा, जिससे वह गिर पड़े। जमीन पर गिरने के बाद लात-घूसे और लाठी-डंडे से दोनों शंकर को तब तक पीटते रहे जब तक उन्होंने दम नहीं तोड़ दिया। वहीं से दोनों ने नंदलाल को हत्या की सूचना दी। नंदलाल ने मामले की जानकारी सोनी देवी को दी।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments