बस से गिरा गहने और नकदी से भरा हुआ बैग, युवक ने पेश किया बेमिसाल ईमानदारी की मिसाल, 50 किलोमीटर पीछा कर लौटाया बैग

बस से गिरा गहने और नकदी से भरा हुआ बैग, युवक ने पेश किया बेमिसाल ईमानदारी की मिसाल, 50 किलोमीटर  पीछा कर लौटाया बैग
घटना 13 मई की दोपहर लहार के बस स्टैण्ड इलाके की है। बैग के अंदर न सिर्फ 15 हजार रुपए नकदी रखी हुई थी, बल्कि करीब छह तोला वजनी सोने के गहने एवं कपड़े भी रखे हुए थे। जिसका यह बैग था वह मजदूर परिवार है, जो अहमदाबाद से अपने गृहगांव लौटा था।
जानकारी के अनुसार गुजरात के अहमदाबाद में मजदूरी करने वाला किशन बघेल पुत्र महावीर सिंह बघेल निवासी बाराकलां भिण्ड अपने परिवार के साथ बस में सवार होकर अपने गृहगांव आया था। लहार में बस स्टैण्ड के पास भिण्ड भाण्डेर मार्ग पर बस की छत पर रखा उसका बैग उछलकर सड़क पर गिर गया।
रोड किनारे स्थित अपने घर के बाहर खड़े 24 वर्षीय राजीव परिहार पुत्र कप्तान सिंह परिहार निवासी भिण्ड भाण्डेर मार्ग लहार ने बैग को उठा लिया और अविलंब डायल 100 को कॉल कर दिया। पुलिस आकर उस बैग को ले गई और उसके बाद बैग के अंदर मिले कागजातों के आधार पर मजदूर परिवार का पता लगाकर बैग को संबंधित परिवार के सुपुर्द कर दिया गया। जिस वक्त बैग राजीव परिहार को मिला, उस वक्त सड़क पर अन्य कोई व्यक्ति नहीं था। एेसे में उसके मन में किसी प्रकार का लालच नहीं आया और उसने बैग को वापिस कर दिया।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments