युवराज सिंह बोले - मुझे इस गेंदबाज से लगता था सबसे ज्यादा डर, इसके सामने मैं हमेशा...

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज युवराज सिंह ने मुथैया मुरलीधरन को अपने करियर में सबसे खतरनाक गेंदबाज के रूप में नामित किया है। युवराज ने कहा कि दिग्गज श्रीलंकाई ऑफ स्पिनर का सामना करने के दौरान उन्हें सबसे ज्यादा डर लगता था। टेस्ट क्रिकेट में, मुथैया ने युवराज को छह मैचों में चार बार आउट किया है।

Copyright Holder: Cric Fever
एकदिवसीय मैचों में मुरली 37 मैचों में पांच बार युवराज सिंह को आउट करने में सफल रहे। हालाँकि, 50 ओवर के प्रारूप में, उनके खिलाफ युवराज का औसत 41.20 का था। युवराज ने ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा का नाम भी लिया और कहा कि उनके आउट-स्विंगर्स ने उन्हें बहुत परेशान किया। मैकग्राथ ने टेस्ट मैचों में युवराज को दो बार आउट किया।

Copyright Holder: Cric Fever
मुथैया से लगता था डर
‘वास्‍तव में मैं मुरलीधरन का सामना करते हुए संघर्ष करता था। उनकी गेंदबाजी को भांप नहीं पाता था। इसके अलावा ऑस्‍ट्रेलिया के ग्‍लेन मैक्‍ग्राथ ने भी मुझे विकेट से बाहर निकलती हुई गेंदों पर परेशान किया। मैंने टेस्‍ट क्रिकेट में मैक्‍ग्राथ का ज्‍यादा सामना नहीं किया, मैं बेंच पर बैठकर सीनियर प्‍लेयर्स की हौसला बढ़ाया करता था।’
मुरलीधरन की गेंदबाजी के बारे में बात करते हुए युवी ने बताया,
‘सचिन तेंदुलकर ने भी मुरली के खिलाफ स्‍वीप शॉट खेलने की सलाह दी, इससे मैं काफी सहज हो गया।’

Third party image reference
युवराज ने मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के नेतृत्व में 2000 चैंपियंस ट्रॉफी में पदार्पण किया। फिर उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और 2007 और 2011 के विश्व कप में शानदार प्रदर्शन किया। पिछले साल, उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया और दुनिया भर में फ्रेंचाइजी टी20 क्रिकेट खेल रहे हैं। उन्होंने अबू धाबी टी10 लीग और ग्लोबल टी20 कनाडा में हिस्सा लिया था।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments