Coronavirus: नवजात शिशु को हुआ कोरोना वायरस, यह दुनिया में सबसे कम उम्र में संक्रमण का पहला मामला

रॉयल कॉलेज ऑफ ऑब्स्टीट्रीशियन्स एंड गाइनोकोलोजिस्ट की ओर से सलाह दी गई है कि बच्चे को उसकी मां से दूर नहीं किया जा सकता है। संक्रमण की हालत में भी बच्चे को उसकी मां का दूध मिलना जरूरी है।

Coronavirus: इंग्लैंड में नवजात शिशु में कोरोना वायरस का संक्रमण मिला है। दुनिया में यह पहला ममला है जब सबसे कम उम्र के बच्चे में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इंग्लैंड में नवजात शिशु की मां को लग रहा था कि मेरे बच्चों को न्यूमोनिया हो गया। जिसके बाद महिला अपने बच्चे को लेकर हॉस्पिटल पहुंची तो जांच में पता चला कि बच्चा कोरोना वायरस से संक्रमित है।
डॉक्टर यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि बच्चे ने संक्रमण को कैसे पकड़ा- या तो गर्भ के माध्यम से या जन्म के दौरान। फिलहाल मां और बच्चे का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है और डॉक्टर पता लगा रहे हैं कि बच्चे इस संक्रमण की चपेट में कैसे आया।
बच्चे को उसकी मां से दूर नहीं किया जा सकता
रॉयल कॉलेज ऑफ ऑब्स्टीट्रीशियन्स एंड गाइनोकोलोजिस्ट की ओर से सलाह दी गई है कि बच्चे को उसकी मां से दूर नहीं किया जा सकता है। संक्रमण की हालत में भी बच्चे को उसकी मां का दूध मिलना जरूरी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि बच्चे और मां कम से कम खतरे में हैं। दोनों में कोरोना वायरस के लक्षण बहुत हल्के हैं।
इंग्लैंड में वायरस संक्रमण के बढ़े मामले
बता दें कि इंग्लैंड में कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में 798 लोग आ चुके हैं। कोरोना वायरस के कारण अभी तक 10 लोगों की जान जा चुकी है। बीते 24 घंटों के दौरान वायरस के संक्रमण में 35 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। इंग्लैंड में किसी भी तरह के कार्यक्रम और भीड़ लगाने पर रोक लगा दी गई है।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments