सचिन से सालों पहले ही दोहरा शतक लगा देता ये पाकिस्तानी खिलाड़ी, लेकिन गांगुली ने...


Third party image reference
वनडे में सबसे पहले दिग्‍गज सचिन तेंदुलकर ने दोहरा शतक लगाया था। सचिन ने ये पारी फरवरी, 2010 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ग्‍वालियर में खेली थी। उस मैच में उन्‍होंने 147 गेंदों पर 25 चौकों और 3 छक्‍कों की मदद से नाबाद 200 रन बनाए थे।

Third party image reference
लेकिन आज हम आपको पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के एक ऐसे खिलाड़ी के बारे में बता रहे हैं जो सचिन तेंदुलकर से 13 साल पहले ही दोहरा शतक लगाने वाला था लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने इस खिलाड़ी की कोशिश को नाकाम कर दिया था.

Third party image reference
दरअसल, 1997 में भारत और पाकिस्तान के बीच खेले जा रहे वनडे मैच में पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज सईद अनवर ने भारतीय गेंदबाजों की जमकर धुनाई कर डाली थी और इस मैच में वो 194 रनों के स्कोर पर पहुंचने के बाद दोहरे शतक से मात्र 6 रन ही दूर थे.
गांगुली ने तोड़ा था सपना

Third party image reference
चेन्नई में खेले गए इस मैच में सभी भारतीय गेंदुबाज सईद अनवर को रोकने में नाकामयाब थे। उस वक्त टीम इंडिया की कमान सचिन तेंदुलकर के हाथों में थी। सचिन बार-बार गेंदबाज बदलते गए मगर कोई भी अनवर की आंधी को रोक नहीं पाया। आखिर में सचिन ने खुद गेंदबाजी की कमान संभाली।

Third party image reference
दाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज सचिन ने अनवर को गेंद फेंकी। पाक बल्लेबाज ने हवा में शाॅट लगाया और नीचे फील्डर थे सौरव गांगुली। दादा ने जैसे ही कैच पकड़ा पूरी टीम ने राहत की सांस ली क्योंकि वनडे में सबसे बड़ी पारी खेलने वाला अनवर आउट होकर पवेलियन जा रहा था।
भारत ये मैच भले ही जीत न पाया हो मगर सचिन ने अनवर को आउट कर उन्हें वनडे की पहली डबल सेंचुरी नहीं मारने दी। अब इसे संयोग ही कहेंगे कि इस वाक्ये के 13 साल बाद सचिन तेंदुलकर ने ही वनडे में पहली बार 200 का आंकड़ा छुआ।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments