ये क्रिकेटर दौलतमंद ही नहीं दिलदार भी, नहीं देख पाते हैं किसी की आंख में आंसू

आपने क्रिकेटर्स की दौलत, लाइफस्टाइल और लव स्टोरी से जुड़ी खबरें तो खूब पढ़ी होगी. कई क्रिकेटर ऐसे हैं, जो क्रिकेट खेलने के अलावा कई साइड बिजनेस भी करते हैं, जिससे उनकी दौलत बढ़ सके. लेकिन ऐसा नहीं है कि सभी क्रिकेटर्स सिर्फ कमाने की ओर ध्यान देते हैं. इनमें से कुछ क्रिकेटर ऐसे भी हैं, जो अपनी दौलत का आधा हिस्सा जरुरतमंदों को भी देते हैं.
आइए, डालते हैं एक नजर उन क्रिकेटर्स पर.
1 - शाहिद अफरीदी

Third party image reference
शाहिद अफरीदी अपनी संस्था लोगों को चिकित्सा सुविधा व शिक्षा मुहैया कराती है। साल 2014 में शाहिद ने इसकी नींव रखी थी, ये बेघर लोगों को सहारा भी देते हैं। इसके साथ ही प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए भी एक हॉस्पिटल बनाया था जिसमें उनका इलाज किया जाता है।
2 - राहुल द्रविड़

Third party image reference
राहुल द्रविड़ का दान कैंसर और नशा मुक्ति जैसे कामों में लगा हुआ है. द्रविड़ भी दिल से इतने अच्छे इन्सान है कि वह कई बच्चों की शिक्षा का जिम्मा उठा रहे हैं.
3 - विराट कोहली

Third party image reference
मैदान में जीतना यह खिलाड़ी गुस्सा दिखाता है असल जीवन में यह उतना ही नर्म दिल है. कोहली अपनी सैलरी का एक बड़ा हिस्सा दान कर देते हैं.
4 - गौतम गंभीर

Third party image reference
आपको जानकर हैरानी होगी कि टीम इंडिया के शानदार बल्लेबाज गंभीर ने कई सेना के परिवारों की बहुत मदद की है. वहीं, गौतम गरीबों के लिए मुफ्त रसोई भी चलाते हैं. गौतम गंभीर फाउंडेशन’ की इस रसोई का नाम ‘एक आशा’ है. दिल्ली के पटेल नगर में स्थित इस सामुदायिक रसोई में 1 से 3 बजे तक खाना खिलाया जाता है. गौतम अपनी कमाई का एक बड़ा हिस्सा जरुरतमंदों के लिए खर्च करते हैं.
5 - सचिन तेंदुलकर

Third party image reference
क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट की दुनिया में अनगिनत रिकॉर्ड अपने नाम किये. जिस वजह से सचिन को क्रिकेट के भगवान का दर्जा भी मिला है. सचिन क्रिकेट के अलावा अपनी रियल लाइफ में भी बहुत दानी है. सचिन कैंसर पीड़ितो और बच्चों की शिक्षा के लिए हमेशा हर मदद करने को तैयार रहते है. सचिन तेंदुलकर भी अपनालय नाम का एक गैर सरकारी संस्था चलाते हैं. इसमें 200 बेघर बच्चे है, जिनका पालन पोषण ये संस्था ही करती है. 
6 - युवराज सिंह

Third party image reference
you we can कैंसर से लड़ने वाली इस संस्था का नाम युवराज सिंह ने रखा है। इन्होंने कैंसर की जंग को जीता। इस संस्था का मुख्य कार्य लोगों में कैंसर के प्रति जागरूक करना है। लोगों को कैंसर से बचने व लोगों को डेली चेकअप के प्रति जागरूक करना इस संस्था का मुख्य कार्य है।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments