कोरोना: इटली में मरने वाले 99 फीसदी लोगों में एक बात है बिल्कुल कॉमन


  • इटली में कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक करीब 3000 लोगों की मौत हो चुकी है. इटली के 'नेशनल हेल्थ अथॉरिटी' की एक स्टडी के अनुसार, मरने वालों में से 99 फीसदी लोग पहले से ही किसी न किसी दूसरी बीमारी से ग्रस्त थे.
  • यहां कोरोना वायरस से संक्रमण के अब तक 36 हजार मामले सामने आ चुके हैं. कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद इटली में बाकी देशों की तुलना में मृत्यु दर ज्यादा है.
  • रोम स्थित इंस्टिट्यूट ने इटली में कोरोना के संक्रमण से कुल मरने वालों के 18 फीसदी लोगों का मेडिकल रिकॉर्ड देखा तो पता चला कि मरने वालों में महज 0.8 फीसदी ही ऐसे लोग थे जिन्हें पहले से कोई बीमारी नहीं थी. इनमें से आधे से ज्यादा लोग पहले से ही कम से कम तीन बीमारियों से जूझ रहे थे और एक चौथाई लोग एक या दो बीमारी से ग्रसित थे.
  • 75 फीसदी लोग हाई ब्लड प्रेशर के शिकार थे. 35 फीसदी लोगों को डायबिटीज थी और एक तिहाई लोग दिल की बीमारी से ग्रसित थे.
  • इटली में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है. एक दिन में 475 लोगों को मौत के साथ ही मरने वालों की संख्या तीन हजार के करीब पहुंच गई है. इटली के लोम्बार्डी में सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं. 475 में से 319 लोगों की एक दिन में मौत इसी इलाके में हुई है.
  • इटली चीन के बाद कोरोना वायरस की चपेट में सबसे बुरी तरह से आया है. पूरी दुनिया में कोरोना से मरने वालों की तादाद कम से कम 8,758 पहुंच गई है जिनमें से ज्यादातर लोग चीन के हैं.
  • यूरोप में कोरोना वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित इटली की सड़कें पहले ही खाली हैं और दुकानें बंद पड़ी हैं जबकि 6 करोड़ नागरिक अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं. इटली में यूरोप की सबसे बुजुर्ग आबादी बसती है और कोरोना बुजुर्गों को ही सबसे आसानी से अपना शिकार बना रहा है
  • इटली में हालात इतने भयावह हैं कि यहां लोग अपनों के अंतिम संस्कार में भी शरीक नहीं हो पा रहे हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण से लगातार हो रहीं मौतों की वजह से कई प्रांतों में शवों के अंतिम संस्कार में भी देरी हो रही है. कोरोना संक्रमण रोकने के लिए इटली में लगाई गईं तमाम पाबंदियों की वजह से पारंपरिक रूप से अंतिम संस्कार गैर-कानूनी हो गया है. यहां अंतिम संस्कार समेत किसी भी प्रक्रिया के लिए लोग एक जगह जमा नहीं हो सकते हैं.
  • यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

    No comments