कोरोना के आगे कंगाल पाकिस्तान ने टेक लिए घुटने, 450 पॉजिटिव केस, PHOTOS में देखें पड़ोसी देश का हाल


डॉक्टरों ने काम बंद करने की दी चेतावनीः पाकिस्तान में लोगों की शिकायत है कि देश में जांच के लिए अस्पताल व्यवस्थित नहीं हैं। वहीं इसकी जांच में उपयोग होने वाली सामग्री जैसे स्पेशल किट और मास्क की भी कमी बताई जा रही है। ऐसे में डॉक्टर्स ने काम बंद करने की भी चेतावनी दी है।


कोरोना के बढ़ते असर के बीच लोगों द्वारा लगातार आरोप भी लगाया जा रहा है कि कोरोना की जांच के लिए लाहौर में कुछ अस्पतालों में 9 हजार रुपये तक की फीस वसूलें जा रहे हैं। जबकि सरकार का कहना है कि जांच बिल्कुल मुफ्त की जा रही है।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लोगों का आरोप है कि मास्क और सेनेटाइजर की कमी से जूझ रहे हैं और लगातार संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं।


अमेरिका ने की मदद की घोषणाः कोरोना के कारण संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को अमेरिका ने 10 लाख डॉलर देने की घोषणा की है। अमेरिका राजनयिक एलिस वेल्स ने अपने ट्विटर के जरिये इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अमेरिका दक्षिण एशियाई देशों को यूएसईडी कार्यक्रम के तहत 10 लाख डॉलर देने की घोषणा करता है।


कोरोना से लड़ने के लिए तैयार नहीं पाकिस्तानः करांची की डाउ यूनिववर्सिटी की डॉ. शोभा लक्ष्मी ने डॉन अखबार से बातचीत में बताया कि पाकिस्तान के अस्पताल आज भी 1947 की व्यवस्था पर चल रहे हैं। देश कोरोना जैसी खतरनाक महामारी से निपटने के लिए तैयार नहीं है। देश के अस्पताल भी आपातकाल के लिए तैयार नहीं है। प्राइवेट अस्पतालों का भी बुरा हाल है।


कोरोना वायरस के कारण दुनिया के भी हालात बुरे हो गए हैं। कोरोना का आतंक 170 से अधिक देशों में फैल चुका है। दुनिया भर में अब तक 245,885 लोग संक्रमित हैं। जबकि 10,048 मौतें हुई हैं। वहीं, राहतभरी खबर यह है कि इस बीमारी से अब तक 88,465 लोग ठीक भी हो चुके हैं।


पाकिस्‍तान ने कोरोना के खिलाफ किस तरह हथियार डाले थे, यह तो उसी वक्त साफ हो गया था, जब उसने इलाज ना होने का बहाना बनाकर वुहान में फंसे अपने नागरिकों को लाने से इनकार कर दिया था।


उस वक्त भारत अपने नागरिकों को वुहान से वापस ला रहा था। इसके बाद पाकिस्तान की हर तरफ काफी आलोचना हुई थी। फजीहत के बाद पाकिस्तान ने अपने नागरिकों को वापस बुलाया था।


लाहौर में मस्जिदों को बंद कर दिया गया है। बादशाही मस्जिद के बंद होने की वजह से बाहर क्रिकेट खेलते बच्चे।


पाकिस्तान के कुछ हॉस्पिटल में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज करने की तैयारी।


पाकिस्तान में ये हाल हैं कि यहां खुले में आइसोलेशन सेंटर बनाने पड़ रहे हैं। बलोचिस्तान में इस तरह के आइसोलेशन सेंटर बनाए गए हैं।

इस्लामाबाद. पाकिस्तान में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 454 हो गई है। जबकि दो लोगों की मौत हो चुकी है। दोनों मरीजों  की मौत खैबर पख्तूनखा में लगभग एक साथ ही हुई थी। पाकिस्तान के बलूचिस्तान, सिंध, गिलगिट-बलिस्तान और खैबर पख्तूनखा प्रांत में लगातार संक्रमण का असर बढ़ता जा रहा है। जिसके कारण बलूचिस्तान सरकार ने पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर रोक लगा दी है और राज्य में हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दी है। पंजाब प्रांत में अब तक 78 केस सामने आए हैं, जिसमें लाहौर में 14 तो सबसे अधिक सिंध प्रांत में 245 लोग संक्रमित हैं। इसमें करांची के 93 संक्रमित लोग भी शामिल हैं।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments