पद संभालते ही केजरीवाल ने लिया पहला बड़ा फैसला, किसी भी मुख्‍यमंत्री ने नहीं किया पहले ऐसा

आम आदमी पार्टी के राष्‍ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल द्वारा सोमवार को सुबह 11 बजे दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री का कार्यभार संभालने के तुरंत बाद कैबिनेट की पहली बैठक हुई, जिसमें मुख्‍यमंत्री ने अपना पहला बड़ा फैसला लेते हुए यह घोषणा की है कि वो अपने पास कोई भी विभाग नहीं रखेंगे।

Third party image reference
इससे वो केवल जनता के लिए उपलब्‍ध होंगे और केवल उनकी भलाई के कार्यों पर ही अपना सारा ध्‍यान देंगे। इससे पहले देश में किसी भी मुख्‍यमंत्री ने ऐसा फैसला नहीं लिया है। उनके पास कोई न कोई विभाग रहता ही है। पिछली सरकार में केजरीवाल के पास दिल्‍ली जल बोर्ड सहित कई विभागों की जिम्‍मेदारी थी।

Third party image reference
इस बार दिल्‍ली जल बोर्ड की जिम्‍मेदारी सत्‍येंद्र जैन को सौंपी गई है। पर्यावरण विभाग गोपाल राय को दिया गया है। पहले पर्यावरण विभाग कैलाश गहलोत के पास था। महिला एवं बाल विकास विभाग की जिम्‍मेदारी राजेंद्र पाल गौतम को दी गई है। पहले यह विभाग मनीष सिसोदिया के पास था। बाकी सभी विभाग उन्‍हीं मंत्रियों को सौंपे गए हैं, जो पिछली सरकार में उनके पास थे।

Third party image reference
अरविंद केजरीवाल ने अपने मंत्रिमंडल के सदस्‍यों मनीष सिसोदिया, सत्‍येंद्र जैन, राजेंद्र पाल गौतम, इमरान हुसैन, कैलाश गहलोत और गोपाल राय के साथ सचिवालय में अपना कार्यभार संभाला।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments