पत्नी को हार गया जुआरी पति, बोला : जीतने वाले के संग चली जा, और फिर जो हुआ जानिए...

बिहार के बांका में हुई एक घटना ने महाभारत कथा की याद दिला दी है, जिसमें पांडव जुए में पत्‍नी द्रौपदी को हार गए थे। हालांकि, इस मामले में जुए में हार के बाद का पार्ट महाभारत कथा से हटकर है। बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में पति ने पत्नी को जुए में दांव पर लगा दिया और हार गया। दांव हारने के बाद उसने पत्नी को जीतने वाले के साथ जाने को कहा। पत्‍नी के इनकार करने पर उसने पहले उसके गले में फंदा डाल कर जान लेने का प्रयास किया और जब वह किसी तरह छूट कर भागने लगी तो पत्थर से हमला कर सिर फोड़ डाला। स्‍थानीय लोगों ने घायल महिला को अस्पताल में भर्ती करा दिया है।

अक्सर मारपीट करता है पति
घायल पत्‍नी ने बताया कि पति अक्सर उसके साथ मारपीट करता है। एक सप्ताह पहले भी मारपीट कर घर से निकाल दिया था। तीन दिन पहले वह मायके से आई थी। दो दिनों तक सब कुछ ठीक-ठाक रहा, लेकिन तीसरे दिन सोमवार देर रात घर आते ही पति ने मारपीट शुरू कर दी। उस दौरान पति ने कहा कि वह उसे जुए में हार गया है। मंगलवार सुबह जुआ जीतने वाले उसे लेने के लिए आएंगे। इस दौरान पूरी रात वह मारपीट करता रहा। सुबह जब जुए का दांव जीतने वाले आ गए, जब पति उसे उनलोगों के साथ भेजने लगा। पत्नी ने जब इसका विरोध किया तो फिर पिटाई शुरू कर दी। गुस्से में पति उसके गले में रस्सी का फंदा डालकर खींचने लगा। किसी तरह वह बच कर भागने लगी, लेकिन पति ने पीछे से पत्थर से हमला कर दिया। इससे सिर में चोट लगने की वजह से वह गंभीर रूप से जख्मी होकर गिर पड़ी। उसके गिरते ही पति समेत उसे ले जाने के लिए आए लोग वहां से भाग गए।

पीडि़त महिला की दूसरी शादी
पीडि़ता ने बताया कि उसकी पहली शादी मुंगेर जिले में हुई थी। एक वर्ष पूर्व उसके पति की मौत होने पर वह अपने दोनों बच्चों के साथ मायके में रह रही थी। इसी बीच स्वजनों ने उसकी दूसरी शादी कराई। ग्रामीणों के अनुसार महिला का पति पिछले पांच-छह वर्षों से दिल्ली में मजदूरी करता था। दो-तीन महीने से वह गांव में रह रहा है। वह पूर्व में दो शादियां कर चुका है। लेकिन उसके गलत आचरण के कारण दोनों पत्नियां उसे छोड़कर चली गईं।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments