डांस करना नहीं आया तो रोये थे अमिताभ बच्चन, ऐसे नचाया इस अभिनेता ने

दोस्तों, बॉलीवुड में आज के समय में ऐसे सितारे है बहुत कम है जिन्हें नाचना नहीं आता है, मगर पहले के समय में ज्यादातर अभिनेताओं में से बहुत कम लोगों को ही नाचना आता था। जैसे राजेंद्र कुमार, धर्मेंद्र, दिलीप कुमार, राज कपूर, रणधीर कपूर, मनोज कुमार इत्यादि। ये शायद कम ही लोग जानते है कि सदी के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन को भी नाचना नहीं आता था और इसी वजह से के फिल्म की शूटिंग के दौरान वो खूब रोये थे। चलिए जानते है पूरा किस्सा।

Third party image reference
ये बात है उस समय की जब साल १९७२ में निर्माता-निर्देशक और मशहूर अभिनेता मेहमूद साहब 'बॉम्बे टू गोवा' नामक फिल्म बना रहे थे। अमिताभ बच्चन के लीड रोल वाली यह पहली फिल्म थी।

Third party image reference
मेहमूद साहब का नजरिया अमिताभ को लेकर कुछ ऐसा था कि एक बार उन्होंने कहा था कि 'मैं एक्टर के तौर पर अमिताभ से बेहद प्रभावित हुआ था। अमिताभ बच्चन की आंखें, उसकी आवाज से ज्यादा बोलती थी। मगर अमित को एक टिपिकल बॉलीवुड एक्टर के रूप में तब्दील करना बहुत मुश्किल था, क्यूंकि वो बहुत शर्मीला था। इस पर जब बात नाचने की आती थी तो एकदम भोंदू था।'

Third party image reference
मशहूर वेबसाइट 'द लल्लनटॉप' के मुताबिक हुआ यूं कि फिल्म 'बॉम्बे टू गोवा' के एक गाने में तो अमिताभ नाच ही नहीं पा रहे थे और दूसरा गाना 'देखा ना हाय रे सोचा ना' जो बस में फिल्माया जाना था, इस गाने पर नाचने से पहले ही अमिताभ हार मान चुके थे।

Third party image reference
शूटिंग के दौरान एक दिन अमिताभ शूटिंग पर नहीं गए और अपने कमरे में ही रहे। उन्हें १०२ डिग्री बुखार भी था। जब मेहमूद साहब अमिताभ के कमरे में पहुंचे तो वो सुबकते हुए रो रहे थे और मेहमूद से कहने लगे कि 'भाईजान, अब मुझसे नहीं होगा ये डांस-वांस।' तो मेहमूद ने उनसे कहा कि 'आदमी चल सकता है तो वो नाच भी सकता है।'

Third party image reference
मेहमूद ने अपने डांस मास्टर को ये हिदायत दे दी कि दूसरे दिन जब अमिताभ शूटिंग के लिए आये तो केवल एक ही टेक में अमिताभ जो भी करें, उस पर सारे लोग तालियां बजाये। फिर क्या था अगली सुबह अमिताभ शूटिंग पर आये और पहले टेक में बहुत ही गन्दा डांस किया, जिस पर सारे लोगों ने तालियां बाजई।

Third party image reference
इस तरह की हौसला अफजाई देखकर अमिताभ बच्चन में आत्मविश्वास जाग गया और उन्होंने पूरा गाना इसी आत्मविश्वास में पूरा कर लिया और जो गन्दा वाला शॉट उन्होंने शुरुवात में दिया था वो भी आखिर में फिर से फिल्माया गया।

Third party image reference
एक के बाद एक कई फ्लॉप फ़िल्में देने के बाद अमिताभ बच्चन अपना आत्मविश्वास खो चुके थे। अगर मेहमूद साहब ने इन्हें ये फिल्म ना दी होती और उनका आत्मविश्वास ना जगाया होता तो बॉलीवुड की कहानी कुछ और होती। ये खुद अमिताभ बच्चन भी मानते ही कि उस वक़्त अगर मेहमूद ना होते तो शायद आज वो यहां नहीं होते।

Third party image reference
दोस्तों, आपके मुताबिक अगर मेहमूद ने अमिताभ को ये फिल्म ना दी होती तो क्या उनका करियर आगे बढ़ पाता? कृपया अपनी राय कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं और जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments