दुल्हन की तरह सजाया गया था स्मिता का पार्थिव शरीर, पढ़ें राज बब्बर संग रिश्ते की कहानी

स्मिता पाटिल वह नाम है, जिसे हिंदी सिनेमा कभी नहीं भूल पाएगा। सिर्फ 10 सालों में इस एक्ट्रेस ने जिस तरह इंडस्ट्री में अपने पैर जमाये, हर कोई उनके स्टारडम से घबराने लगा। अपने सशक्त अभिनय से पहचान बनाने वाली स्मिता पाटिल का जन्म 17 अक्टूबर 1956 में हुआ था। और महज 31 साल की उम्र में 13 दिसंबर 1986 को स्मिता का निधन हो गया। स्मिता की पुण्यतिथि पर आइए आपको बताते हैं उनके और राज बब्बर के बीच प्यार और रिश्ते के बारे में।

Third party image reference
स्मिता पाटिल को जहां उनकी फिल्मों के लिए सराहा गया वहीं दूसरी तरफ एक्टर और पॉलिटिशियन राज बब्बर से जुड़े उनके सम्बन्ध को लेकर उनकी आलोचना भी की गई। उनके बारे में लोगों ने कहा कि उन्होंने राज बब्बर और नादिरा बब्बर का घर तुड़वा दिया। इसे लेकर स्मिता की अपनी मां से अकसर कहा सुनी होती थी।

Third party image reference
स्मिता पाटिल की मां दोनों के रिश्ते के खिलाफ थीं। उनका कहना था कि जो स्मिता महिलाओं के अधिकार के लिए लड़नी आई वो किसी का घर कैसे तुड़वा सकती है। लेकिन राज बब्बर से अपने रिश्ते को लेकर स्मिता ने मां की एक भी नहीं सुनी।

Third party image reference
कहा जाता है कि फिल्म 'भीगी पलकें' के दौरान राज बब्बर और स्मिता पाटिल के बीच प्यार पनप गया था। 80 के दशक में ही यह दोनों लिव-इन-रिलेशनशिप में रहने लगे थे। बीबीसी के मुताबिक राज बब्बर कहते थे कि वो अपनी पत्नी नादिरा को तलाक देकर स्मिता से शादी कर लेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और स्मिता को वो धीरे धीरे अपने फ्रेंड सर्किल से भी दूर रखने लगे थे।

Third party image reference

Third party image reference
स्मिता पाटिल हमेशा कहती थीं- जब मर जाऊंगी तो मुझे सुहागन की तरह तैयार करना। मरने के बाद उनकी अंतिम इच्छा के मुताबिक स्मिता के शव का सुहागन की तरह मेकअप किया गया था। कई लोग ऐसा कहते हैं कि उन्हें इस बात का अंदाजा था कि वो ज़्यादा नहीं जी पाएंगी। (प्रतीक बब्बर) बच्चे को जन्म देते वक्त हुई दिक्कतों के चलते 13 दिसंबर को उनका निधन हो गया था।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments