किसने उड़ाया था संजीव कुमार की कंजूसी का मजाक ।

बाॅलीवुड़ अभिनेता संजीव कुमार वो अपने स्टंट फिल्मों के दायरे से निकलकर घुसपैठ करके सामाजिक फिल्मों में आ गए थे। वो ‘पति-पत्नी में वह नंदा के साथ हीरो का रोल निभा रहे थे। एक दिन वह मैट्रो सिनेमा में कोई फिल्म देखने गए ।अपनी आदत (या कंजूसी) के अनुसार उन्होनें लोअर स्टाल का टिकट खरीदा और इत्तफाक से नंदा भी उस दिन मैट्रो में फिल्म देखने आई थीं। नंदा बालकनी में बैठी हुई थीं।

Photo - Social MediaThird party image reference
संजीव कुमार ने उन्हें देखा तो दूर से सलाम झाड़ दिया। लेकिन अगले दिन जब नंदा सेट पर पहुंचीं तो निर्माता से संजीव की शिकायत करते हुए उन्होने उनको फिल्म से अलग करके कोई ढंग का हीरो लेने के लिए कहा।

Photo - Social MediaThird party image reference
बोली ‘यह हीरो है या कोई फेरी वाला है। जरा हूलिया तो देखिए, एक तो वह बेढंगे कपड़े पहनता है और ऊपर से निचली क्लास में जाकर फिल्म देखता है... इसके साथ काम करके तो मेरा भी ग्रेड गिर जाएगा।
नंदा की शिकायत खत्म होने के थोड़ी देर बाद संजीव भी सेट पर पहुंच गए। मगर उन्होंने उस वक्त भी वही कुर्ता और पायजामा पहन रखा था। हाथ में छत्री लटक रही थी और घड़ी के बेल्ट के नीचे बस का टिकट तह किया हुआ रखा था। उन्हें इस हालत में देख सेट पर मौजूद लोगों ने जोरदार ठहाका लगाया।

Photo - Social MediaThird party image reference
एक ने संजीव से कहा, तुम हीरो हो तो हीरो की तरह रहना भी सीखो और अगर गाड़ी नहीं रख सकते हो तो कम से कम टैक्सी में आया-जाया करो। ‘फेरी वाले’ का लिबास ही पहनना है तो कालबा देवी में जाके कोई और धंधा करो और ये फिल्म लाइन छोड़ दो।
संजीव कुमार को उस समय यह बातें बहुत कड़वी लगी थीं क्योंकि उस समय वह इस स्थिति में नहीं थे कि जवाब दे सकें। सच में वक्त बड़ी जालिम चीज होता है।

Photo - Social MediaThird party image reference
उस समय जिसने भी उन्हें ‘फेरी’ वाला कहा होगा, इतना जरूर हैं उन्हें बाद में अपनी इस बात पर अफसोस होता होगा। कहते हैं कि संजीव कुमार की गाड़ी जब फिल्मों में चल निकली तो नंदा ने जब-जब उनके साथ काम किया, वह अपने कहे पर शर्मिंदा होती थीं। लेकिन संजीव कुमार ने कभी उनकी बात का बुरा नहीं माना।

Photo - Social MediaThird party image reference
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments