इस हीरोइन को साइन करने के लिए बड़े-बड़े निर्माता लगाते थे लाइन, फिर बर्बाद हुआ करियर।

साठ के दशक में निम्मी वह अभिनेत्री थी जिन्होंने बोल्ड सीन देने से भी गुरेज नहीं किया. निम्मी अपने जमाने की बड़ी सुपरस्टार रही और उनका उस समय फिल्मों में रात चलता था. निम्मी के साथ हर कोई काम करना चाहता था. राज कपूर तो उनको अपनी एक फिल्म में लेने के लिए अड़ गए थे. लेकिन उनकी एक गलती की वजह से उनका करियर बर्बाद हो गया.

Third party image reference
फिल्म महबूब जो 1963 में रिलीज हुई थी में निम्मी को हीरोइन का लीड रोल मिला था, जिसे उन्होंने रिजेक्ट कर दिया. निर्देशक इस फिल्म के लिए निम्मी को लीड हीरोइन और बीना राय को राजेंद्र कुमार की बहन के रोल में लेना चाहते थे. लेकिन निम्मी को हीरोइन से ज्यादा बहन का किरदार इंपॉर्टेंट लगा और इसी वजह से उन्होंने लीड किरदार की जगह बहन का किरदार करने का फैसला किया.

Third party image reference
इसके बाद इस फिल्म के लिए लीड हीरोइन के किरदार में साधना को साइन किया गया. जबकि निम्मी ने बहन का किरदार निभाया. इस फिल्म से साधना को तो बहुत लोकप्रियता मिली. जबकि निम्मी का कैरियर लुढ़क गया. निम्मी की घटती लोकप्रियता और साधना की बढ़ती लोकप्रियता की वजह से निम्मी को वह कौन थी और पूजा के फूल जैसी फिल्मों से रिप्लेस कर दिया गया.

Third party image reference
निम्मी को आज भी फिल्म महबूब में बहन का किरदार निभाने का मलाल है. इसी वजह से उनका करियर खत्म हुआ था. इस फिल्म के बाद निर्माता और निर्देशकों ने उन्हें वह रोल ऑफर नहीं किए, जो वह चाहती थी. निम्मी 85 साल की हो चुकी हैं. उनका असली नाम नवाब बानू है. वह काफी लंबे समय से गुमनामी की जिंदगी जी रही है.
ये कंटेंट UC के विचार नहीं दर्शाता है
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments