5 साल की उम्र में मां ने छोड़ा साथ! बस कंडक्टर था कभी, आज है सुपरस्टार

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के बेताज बादशाह आज 70 साल के हो गए हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं रजनीकांत की। जिसका जन्म एक गरीब परिवार में हुआ था। 5 साल की उम्र में उनके सिर से मां का छाया खत्म हो गया था। आज वह जिस मुकाम पर खड़े हैं, जिसका सच होना एक सपने जैसा लगता है।

Third party image reference
मां का साया हटने के बाद उन्होंने कुली का काम किया। कुछ समय बाद उन्हें बेंगलुरु परिवहन सेवा में नौकरी मिली है, जो एक बस कंडक्टर थी। कंडक्टरगिरी करते वक्त उन्होंने स्टाइल से चश्मा पहनना और सिगरेट उछाल कर पीना सीखा था, जो उनकी पहली फिल्म में काम आया। उनके स्टाइल को दर्शकों ने खूब पसंद किया।

Third party image reference
रजनीकांत दिनों दिन सफलता की ऊंचाइयां छूते जा रहे हैं। 2014 में उन्हें तमिलनाडु स्टेट की तरफ से 6 अवॉर्ड्स मिले थे। जबकि साल 2000 में ही उन्हें पदम भूषण से सम्मानित किया गया था। उनकी सुपरहिट फिल्मों में खून का कर्ज़, क्रांतिकारी, मेरी अदालत, दोस्ती दुश्मनी, अंधा कानून, जॉन जॉनी जनार्दन और शिवाजी द बॉस है। उन्होंने भारतीय फिल्म इंडस्ट्री की सबसे महंगी फिल्म में काम किया है, जो रोबोट 2.0 हैः

Third party image reference
रजनीकांत को साउथ के क्षेत्रों में भगवान की तरह मानते हैं, कई लोग तो उनकी पूजा तक करते हैं। कहते हैं उनकी एक झलक पाने के लिए लोग लाखों की तादाद में खड़े हो जाते हैं। रजनीकांत ने 70 साल की उम्र में केवल संपत्ति ही नहीं, बल्कि एक जबरदस्त स्टारडम खड़ा किया है। जो सलमान और शाहरुख खान की फैन फॉलोइंग से भी बड़ी है।
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...

No comments