क्या आपने आमिर खान का पुश्तैनी घर देखा है, देखिए आमिर का बदहाल गांव।


google search
शायद ही आप आमिर खान के पुश्तैनी घर के बारे में कुछ जानते हो। उनका पुश्तैनी मकान उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में अख्तियारपुर गांव में अब भी बना हुआ है लेकन इसकी हालत बिलकुल खंडहर के जैसी खस्ताहाल हो चुकी है उनके गांव में बिजली तो है लेकिन यह मात्र नाम की है। ऊपर दी हुई फोटो उनके पुश्तैनी घर की है। सालों से यह मकान ऐसे ही पड़ा हुआ है।

google search
आमिर के पुरखों के गांव में 3 बाग भी है जिसमे से एक बाग में मकान बना हुआ है यह बाग करीब 25 एकड़ का है। जिस घर में उनका परिवार कभी रहा करता था आज वह जर्जर हालत में है अब उस मकान में उनके परिवार से जुड़े एक व्यक्ति आकिल अली अभी भी उसी घर में रह रहे है। उनके गांव में एक पुरानी मस्जिद भी है जिसमे उनके परदादा हाजी मोहम्मद हुसैन की पक्की कब्र भी बनी हुई है।

google search
दरअसल आमिर के दादा जाफर हुसैन खां के तीन बेटे थे जिनका नाम नासिर हुसैन खां, बाकर हुसैन खां और ताहिर हुसैन खां आदि सभी एक साथ इसी घर में रहा करते थे। उसमे से नासिर हुसैन घर बार छोड़कर मुंबई चले गए। और वह बॉलीवुड के सफल निर्माता-निर्देशक बन गए। जल्द उन्होंने अपने भाई ताहिर हुसैन को भी मुंबई में ही बुला लिया।

google search
मुंबई में ही आमिर और फैज़ल पैदा हुए। जिसके बाद से उनका परिवार कभी वापस अपने गांव नहीं गया। उनके पिता ताहिर हुसैन को सन 1975 में फिल्म 'जख्मी' के लिए ट्रॉफी भी मिली। उन्होंने उपहार के तौर पर वह ट्रॉफी अपने बड़े भाई बाकर हुसैन खां को दे दी थी। आज वह ट्रॉफी उसी मकान के मलवे में कही दब चुकी है। आज भी गांव में उनके रिश्ते में लगने वाले नईम शाहाबादी उन्हें बड़ी शिद्दत से याद करते है। उन्हें उम्मीद है की एक दिन आमिर खान उनसे मिलने गांव जरूर आएंगे।
Loading...

No comments